Dhanvantri-pooja.jpg?fit=275%2C200&ssl=1

November 2, 20181min1240

धनतेरस पर जो भी उपाय आजमाए जाते हैं सामान्यत: उनसे मिलने वाला फल धनतेरस पर 13 गुना बढ़ जाता है। इस दिन 13 की संख्या शुभ मानी जाती है। धनतेरस पर सूर्यास्त के बाद दीप जलाकर कौड़ियां रखें, धनकुबेर और देवी लक्ष्मी का पूजन करें। आधी रात के बाद 13 कौड़ियां घर के किसी कोने में गाड़ दें। अनायास ही अपार धन प्राप्ति के योग बनने लगेंगे।

कुबेर यंत्र लाएं, उसे दुकान के गल्ले या तिजोरी में स्थापित करें। फिर 108 बार इस मंत्र का जाप करें। अगर 108 जप नहीं कर सके तो 13 बार इस मंत्र को पढ़ें और चमत्कार देखें।

मंत्र :

ॐ  यक्षाय कुबेराय वैश्रवणाय धन्य धन्याधिपतये धन धान्य समृद्धि मे देहि दापय स्वाहा

इससे धन संबंधी हर तरह की परेशानियों का अंत होगा।

घर में चांदी के 13 सिक्के रखें और केसर व हल्दी लगाकर पूजन करें। बरकत बढ़ेगी।

धनतेरस पर 13 दीप घर के अंदर और 13 दीप घर के बाहर दहलीज और मुंडेर पर रखें।

आसानी से उपलब्ध ये  सामग्री धनतेरस पर आपको बनाएगी धनवान

 READ ALSO : धन्वंतरि स्तोत्र के बिना अधूरी रहती है धनतेरस की पूजा
धनतेरस पर धन कमाने के उपाय हर कोई आजमाता है। हम लाए हैं ऐसे उपाय जो ना तो मुश्किल है, ना महंगे हैं ना अधिक समय लेने वाले है। इन उपायों की सामग्री आपको आसानी से बाजार में मिल जाएगी।

नमक 

धनतेरस पर नमक का नया पैकेट खरीदें। खाना बनाने में नया नमक ही प्रयोग करें। इससे धन की आवक में वृद्धि होगी। घर के उत्तर पूर्व कोने में थोड़ा सा नमक कटोरी अथवा छोटी डिब्बी में डालकर रख सकते हैं। इससे घर की नकारात्मकता खत्म होगी और धनागमन के साधन बनने लगेंगे।

साबुत धनिया

धनतेरस के दिन साबुत धनिया खरीदें। पूरी रात लक्ष्मी जी के सामने साबुत धनिया रखा रहने दें। अगले दिन प्रातः साबुत धनिए को गमले में बो दें। यह जब उगेगा तो हमारी आर्थिक स्थिति का संकेत देगा। अगर धनिए से हरा-भरा स्वस्थ पौधा निकले तो आर्थिक स्थिति सुदृढ़ रहती है। अगर धनिए का पौधा पतला है तो सामान्य आय होती है। पीला व बीमार पौधा निकले या पौधा नहीं निकले तो आर्थिक परेशानियां आती हैं।

कौड़ी

धनतेरस के दिन कौड़ी खरीद कर घर लाएं और अपार धन प्राप्ति हेतु धनतेरस की रात्रि उनका षडोषोपचार पूजन कर केसर से रंगकर कौड़ियां पीले कपड़े में बांधकर तिजोरी में रखें। आश्चर्यजनक रूप से घर में धन का आगमन होगा।

कमल गट्टे

घी में कमल गट्टे मिलाकर लक्ष्मी को प्रसाद चढ़ाने से व्यक्ति राजा जैसा जीवन जीता है। इसके अतिरिक्त 108 कमल गट्टों की माला लक्ष्मी जी पर चढ़ाने से व्यक्ति को स्थिर लक्ष्मी प्राप्त होती है। धन और बरकत के लिए कमल गट्टे की माला घर में रखें।

गांठ वाली पीली हल्दी

धनतेरस के दिन शुभ मुहूर्त देखकर बाजार से गांठ वाली पीली हल्दी अथवा काली हल्दी को घर लाएं। इस हल्दी को कोरे कपड़े पर रखकर स्थापित करें तथा षडोशपचार से पूजन करें।

धनतेरस पर ये सामग्री सुख, संपत्ति और ऐश्वर्य का वरदान लेकर आती हैं।


Untitled-design-4.png?fit=1200%2C361&ssl=1

October 23, 20181min1970

हिन्दू धर्म में धन्वंतरि (Dhanvantri) देवताओं के वैद्य माने गए हैं। धन्वंतरि महान चिकित्सक थे। हिन्दू धार्मिक मान्यताओं के अनुसार धनवंतरि भगवान विष्णु के अवतार समझे गए हैं। समुद्र मंथन के दौरान धन्वंतरि का पृथ्वी लोक में अवतरण हुआ था।

शरद पूर्णिमा को चंद्रमा, कार्तिक द्वादशी को कामधेनु गाय, त्रयोदशी को धन्वंतरि, चतुर्दशी को काली माता और अमावस्या को भगवती लक्ष्मी जी का सागर से प्रादुर्भाव हुआ था। इसीलिए दीपावली के दो दिन पूर्व धनतेरस को भगवान धन्वंतरि का जन्म धनतेरस के रूप में मनाया जाता है। धनतेरस पर धन प्राप्ति के अनेक उपाय बताए जाते हैं लेकिन सभी उपायों से बढ़कर है धन और आरोग्य के देवता धन्वंतरि का पावन स्तोत्र। इस स्तोत्र के बिना अधूरी रहती है धनतेरस की पूजा.

पवित्र  धन्वंतरि स्तो‍त्र :

ॐ शंखं चक्रं जलौकां दधदमृतघटं चारुदोर्भिश्चतुर्मिः।
सूक्ष्मस्वच्छातिहृद्यांशुक परिविलसन्मौलिमंभोजनेत्रम॥
कालाम्भोदोज्ज्वलांगं कटितटविलसच्चारूपीतांबराढ्यम।
वन्दे धन्वंतरिं तं निखिलगदवनप्रौढदावाग्निलीलम॥

READ ALSO धनतेरस कथा: भगवन विष्णु ने दिलाई असुरों के गुरु के भय से मुक्ति

भगवान धन्वंतरि को प्रसन्न करने का अत्यंत सरल मंत्र इस प्रकार है

ॐ धन्वंतराये नमः॥

आरोग्य प्राप्ति हेतु धन्वंतरि देव का पौराणिक मंत्र

ॐ नमो भगवते महासुदर्शनाय वासुदेवाय धन्वंतराये:
अमृतकलश हस्ताय सर्व भयविनाशाय सर्व रोगनिवारणाय
त्रिलोकपथाय त्रिलोकनाथाय श्री महाविष्णुस्वरूप
श्री धनवंतरी स्वरूप श्री श्री श्री औषधचक्र नारायणाय नमः॥

अर्थात् परम भगवन को, जिन्हें सुदर्शन वासुदेव धन्वंतरि कहते हैं, जो अमृत कलश लिए हैं, सर्व भयनाशक हैं, सर्व रोग नाश करते हैं, तीनों लोकों के स्वामी हैं और उनका निर्वाह करने वाले हैं; उन विष्णु स्वरूप धन्वंतरि को सादर नमन है।

Must Watch this video :

#धन्वंतरि स्तो‍त्र के बिना पूरी नहीं होती धनतेरस की पूजा, dhanteras 2018, धन प्राप्ति के उपाय



About us

AMSG MEDIA INFOLINE is a knowledge centric organization, hosting one of its kinds of website “dharam.tv” we are providing premium online information services in field of Religious, Ritual, Spirituality, Festivals & Cultural Activities, Astrologers, Guru, Pandit and related information’s in line. Our motto is for spreading knowledge that is useful to everyone.


CONTACT US

CALL US ANYTIME